Connect with us

Sheikhpura News

हजारों बर्ष से जुड़ी है छठपर्व की महता ‘अरघौती पोखर’ के नाम से है प्रसिद्ध है छठघाट

Published

on

प्राचीन सूर्य मंदिर भी है स्थापित, सबसे ज्यादा छठव्रती पहुंचते हैं यहां अर्ध्य

सत्येंद्र कुमार शर्मा


शेखपुरा।(खबर शेेखपुरा)।

शेखपुरा शहर के गोल्डन चौक से अवगिल -चांडे, चढ़ीहारी सड़क मार्ग पर अवस्थित ‘अरघौती पोखर’ शहर का सबसे पुराना छठ घाट है। यह पोखर करीब 10 बीघा क्षेत्रफल में फैला है। छठपर्व पर पड़ने वाले अर्ध्य को लेकर सैकड़ों बर्ष से यह जिलावासियों के बीच *अरघौती* घाट के नाम से प्रसिद हैं। हरेक साल इस छठ घाट पर छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर यहां व्यापक प्रबंध होता है। इस छठ घाट के चारों ओर पक्के ढलाई से सीढ़ी का निर्माण किया गया है।

जहां हजारों की संख्या में आने वाली छठव्रती आसानी से अर्ध्य देते हैं। इस गहरे तालाब में सालोंभर पानी जमा रहता है। छठ पर्व पर यहां विशेष साफ -सफाई कर एवं दीवारों का रंग -रोगन कर बेहद आकर्षक रूप से सजाया गया है। रौशनी का भी बेहतर प्रबंध हर साल की तरह इस साल भी की गई है। गहरे पानी में कोई प्रवेश नहीं करें इसके लिए पानी में बांस और रस्सी लगाकर बैरेकेडिंग भी गई है। 

सैकड़ों बर्ष पहले स्थापित है भगवान भास्कर की प्रतिमा इस छठ घाट की महत्ता सैकड़ों बर्ष पुरानी है। इस छठ घाट के परिसर में ही सैकड़ों बर्ष पुराना सूर्य मंदिर है। जिसमें भगवान सूर्य देव की प्रतिमा स्थापित है। इस संबंध में 70 वर्षीय कृष्ण नंदन यादव ने बताया की यह छठ घाट अत्यंत प्रचीन है।  शेखपुरा शहर का यह सबसे पुराना पोखर हैं जहां हर साल अर्ध्य दिया जाता था। अब शहर की आबादी बढ्ने के साथ कई अन्य स्थानों पर भी अर्ध्य दी जाती है। 

इस मंदिर में मां दुर्गा की  प्रतिमा भी स्थापित की गई है और भव्य मंदिर भी बनाए गए है। इस मंदिर परिसर में हरेक साल चैत महीने में होने वाले दुर्गा पूजा में प्रतिमा भी स्थापित की जाती है। विभिन्न देवी देवताओं का मंदिर बनाए जाने से वर्तमान में यह जिला का एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल के रूप में जानी जाती है। इस अरघौती पोखर से गिरिहिंडा पहाड़ का अद्धभुत नैसर्गिक सौंदर्य लोगों के बीच बेहद लुभावना है। 


चकदीवान शाही नानक संगत करती है इसकी देखभाल इस छठघाट का चकदीवान शाही नानक संगत इसकी देखभल करती है। इस बाबत महंथ सागर दास ने बताया की सैकड़ों बर्ष से यह अरघौती पोखर श्रद्धालुओं का केंद्र है। यहां श्रद्धालुओं के भीड़ के मद्देनजर संगत व्यापक प्रबंध करती है। जिला प्रशासन के साथ ही शेखपुरा नगर परिषद भी अपना सहयोग देने के साथ सुविधाओं के मद्देनजर पूरा इंतजाम करती है।  


छठ पर्व पर हर साल लगता है मेला इस छठ घाट पर छठपर्व के मौके पर उमड़ने वाली भीड़ के मद्देनजर यहां हरेक साल मेला भी लगता है। इस मौके पर छठ घाट के समीप बड़ी संख्या में विभन्न प्रकार  दुकानें  सज जाती है। वहीं इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले आदि लगाए जाते हैं। श्रद्धालुओ की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन व्यापक इंतजाम करती है। हालांकि इस बार कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए मेला लगाने की मनाही है।    

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *